खबर अभी अभी

ये 5 टेस्ट बढ़ती उम्र में जरूर करवाएं

Get these 5 tests done in a growing age

सेहत : आजकल की भागदौड़ वाली जिदंगी में लोग रोज किसी न किसी नई बामारी से पीड़ित होते है। उन्हें बीमारी का पता भी तब चलता है जब उसका कोई इलाज नहीं रहता। एेसे में यदि हम कुछ एेसे टेस्ट हर साल करवाएं जिससे बढ़ती उम्र की बीमारियों का समय से पहले ही पता चल जाएं। हर औरत को खास करके 30 या 40 की आयु के बाद ये टेस्ट अवश्य करवा लेने चाहिए।

1. लिपिड प्रोफाइल
आजकल की इस स्ट्रैस भरी लाइफ में 30 से ऊपर वाले लोंगों को साल में एक बार लिपिड प्रोफाइल टेस्ट जरूर करवाना चाहिए। यह एक ब्लड टेस्ट होता है जिससे खून में कोलेस्ट्रॉल, ट्रिग्लिसराइड, एचडीएल और एलडीएल के स्तर का पता चलता है। इससे दिल संबंधित बीमारियों का समय रहते पता चल जाता है।

2. बीएमआई जांच
बीएमआई से पता चलता है कि शरीर का वजन उसकी लंबाई के अनुपात में ठीक है या नहीं। 30 वर्ष की उम्र के बाद नियमित बीएमआई जांच बेहद जरूरी होती है। महिलाओं का आदर्श बीएमआई 22 तक होता है। इससे अधिक बीएमआई मोटापे और कमजोर मांसपेशियों का सूचक है।

3. ब्लड काउंट टेस्ट
आयरन की कमी 30 वर्ष से अधिक उम्र की महिलाओं में होने वाली एक आम समस्या है, इसलिए समय-समय पर ब्लड काउंट टेस्ट करवाना बहुत जरूरी होता है। हो सके तो साल में दो बार यह टेस्ट जरूर करवाएं। यदि आपका हिमोग्लोबिन कम होगा तो आपको बहुत सी दिक्कतों का सामना करना पड़ता है। एेसे में यदि पहले ही इसके कम होने का पता चल जाएगा तो आप खून बनने की डाइट और सप्लीमैंट ले सकेंगे।

4. ब्लड प्रेशर
बढ़ती उम्र के साथ टैंशन भी बढ़ती है जिसका सीधा असर हमारे बी.पी पर पड़ता है। हाई बी.पी से हृदय रोग, गुर्दे की बीमारी, धमनियों का सख्त होना, आंखें खराब होना और मानसिक रोग आदि का खतरा बढ़ जाता है। एेसे में समय-समय पर ब्लड प्रेशर टेस्ट करवाते रहना चाहिए। नार्मल बी.पी 85 से 135 तक होता है और 160 से अधिक रक्तचाप हाइपरटेंशन कहलाता है।

5. गर्भाशय जांच
हर बढ़ती उम्र की औरत को गर्भाशय से संबंधित टेस्ट जरूर करवाना चाहिए। क्योंकि आजकल गर्भाशय कैंसर होने का खतरा काफी ज्यादा हो गया है। इस बीमारी का अगर समय से पता चल जाए तो इसका इलाज भी संभव है। गर्भाशय कैंसर का पता लगाने के लिए एक विशेष जांच होती है, जिसे पैप स्मियर जांच कहा जाता है।

Leave a comment

Your email address will not be published.


*


Powered By Indic IME